UP में बिजली के बिल में आया बड़ा बदलाव. अब गाँव में ही….

उत्तर प्रदेश सरकार ने बिजली बिल को लेकर जनता की सहूलियत के लिए एक नया तरीका शुरू किया है

जैसा कि हम लोग जानते हैं कि सरकारी राशन जो गांव में बांटा जाता है उसके लिए अब EPOS मशीन पर अंगूठा लगाना पड़ता है उसके बाद हमें राशन मिल जाता है इसी क्रम में सरकार ने राशन की ही मशीन पर बिजली बिल जमा करने की एक व्यवस्था प्रारंभ की है इसमें सरकार ने एक ऐप दिया हुआ है जिसमें कि कोटेदार पहले से पैसे डाल कर रखते हैं और गांव का कोई भी व्यक्ति कोटेदार के पास जाकर अपना बिल नंबर देकर बिल जमा कर सकता है

EPOS मशीन से बिल जमा करें

बिल जमा करने के बाद उनको उसकी रिसीविंग दी जाएगी एवं बिल का मैसेज उनके मोबाइल नंबर पर भी पहुंचेगा इस सुविधा से गांव में रहने वाले लोगों को बहुत लाभ होने वाला है एवं सरकार को भी बिल वसूली में आसानी होगी इसमें गांव के लोगों को बहुत दूर नहीं जाना है और अपने गांव के कोटेदार के यहां जाकर ही बिल को बड़ी आसानी से जमा कर सकते हैं

कैसे यह किया जाएगा?

इस क्रम में जो बिजली विभाग के लोग हैं वह कोटेदार का पूरा सहयोग करेंगे एवं मीटर रेटिंग आदि में जो भी समस्याएं होंगी वह भी कोटेदार एसडीओ आदि से बात करके उनका कराएंगे इससे एक तरफ तो कोटेदारों की भी आमदनी बढ़ेगी और ग्रामीणों को बिल जमा करने में घंटों लाइन में नहीं लगना होगा और दूरदराज क्षेत्रों में नहीं जाना होगा

EPOS से जमा बिल


सरकार ग्रामीणों की समस्याओं को लेकर बहुत गंभीर है और इसी क्रम में सरकार ने कोटेदारों की ई पोस (EPOS Machine ) मशीन से ही पैसों की निकासी अंगूठे के द्वारा आधार के द्वारा एवं मोबाइल रिचार्ज डीटीएच रिचार्ज और मनी ट्रांसफर की भी सुविधा प्रदान कर दी गई है इन सब चीजों से ग्रामीणों में काफी उत्साह देखा गया है और कोटेदार भी इस काम को बड़े ही दिल लगाकर कर रहे हैं


बहुत जल्द सरकार जनता से जुड़ी और भी समस्याओं को कोटेदारों के द्वारा समाधान करने की जुगत में है सुनने में आया है कि सरकार अगली बार गेहूं एवं मक्का आदि की खरीद में भी कोटेदारों की ई पोस मशीन (EPOS Machine) का इस्तेमाल कर सकती है इस तरह से हमें अंदाजा लगा सकते हैं कि सरकार की पोस मशीन से ग्रामीणों एवं कोटेदारों को बहुत ज्यादा राहत देने के पक्ष में दिखाई दे रही है अब देखना यह भविष्य में कोटेदारों को कितना गंभीरता से करते हैं

Leave a Comment

Your email address will not be published.