किसान आंदोलन की असली सच्चाई – Editor की कलम से

लगभग 3 महीने से  किसान आंदोलन का बिगुल बजा हुआ है। चर्चाएं हो रही है कौन सही कोन गलत. कुछ तथ्यों पर गौर करते हैं.

👉क्या आजादी के बाद कोई एसी सरकार आई जिसने इतने कठोर कठोर फैसले लिए? 🤔 नहीं.

👉 क्या आज तक कोई सरकार ऎसे मुद्दों को छू पायी जिससे सीधा उनका वोट बैंक प्रभावित होता हो? नहीं 🤔

👉 जितनी तेज़ी से देश का विकास पिछले 6 सालों में हुआ क्या कभी कोई सरकार कर पायी? 🤔 नहीं.

👉 गाँव तक अच्छे वोल्टेज की बिजली और लगभग 18-20 घंटे बिजली हर गाँव में कोई सरकार दे पायी? 🤔 नहीं

👉 सालों से टूटी सड़के कोई सरकार बनवा पायी? 🤔 नहीं

👉 Adhaar Card जैसी विश्वस्तरीय व्यवस्था जिसने भ्रष्टाचार की कमर तोड़ कर रख दी एसी व्यवस्था कोई सरकार दे पायी? 🤔 नहीं

👉 पाकिस्तान और चाइना जैसे देशों को मुंहतोड़ जवाव कोई सरकार दे पायी? 🤔 नहीं

मै लिखता जाऊंगा पर लिस्ट खतम नहीं होगी. अब समझते हैं कि आखिर मोदी के हर कदम पर उपद्रव क्यो होता है.

मोदी की लोकप्रियता और बढते विश्व स्तरीय कद से विरोधी पार्टियां और देश विरोधी ताकतें सदमे में हैं. वो जानते हैं कि मोदी के रहते हुए उनकी दुकान और Propaganda सफल नहीं होगा. वो ये भी जानते हैं कि अगर मोदी ऎसे ही बिल लाता गया तो देश फिर से हजारों साल पहले वाले भारत में पुनः स्थापित हो जाएगा. और उनका और उनके पुरखों द्वारा देखा गया सपना टूट जाएगा.

और वो सपना क्या है?

धीरे धीरे देश के टुकड़े करके पूरे देश को एक खास संप्रदाय में बदल देना. यही सपना है. इसका उदाहरण आप आजादी के बाद से पढ़ाया जाने वाला इतिहास देख कर आप समझ सकते हैं. कैसे देश पर हमला करके लूटने वालों का महिमामंडन किया गया और देश भक्तों को जिन्हों बलिदान किया उन्हे हाशिए पर धकेल दिया गया.

किसानों के विरोध में कौन है?

लोगों को समझने की जरूरत है कि जो सरकार किसानों के लिए सबसे ज्यादा स्कीम ले कर आई है वो कैसे किसान विरोधी हो सकती है? क्या आज तक किसी कंपनी ने किसी किसान की जमीन हड़प ली जो इस बार ऎसा होगा? क्या आपने सच में बिल पढ़ा भी है? अगर पुराना बिल अच्छा था तो फिर किसान सुसाइड क्यो करते थे? क्या पहले MSP लागू थी जो अब हटा ली गयी है? क्या CAA से किसी मुसलमान को देश से निकाल दिया गया जो किसान बिल से जमीन छीन ली जाएगी?

आपको को समझने की जरूरत है कि जो नेता आज बिल का विरोध कर रहे हैं यही पहले इस बिल को लाने की वकालत करते थे. राकेश टिकैत जैसे नेता जिनके पास अरबों की संपत्ति है जो कभी खेत में काम नहीं करते वो आपके नेता कैसे हो गए. टिकैत को जो चाहिए था उसे मिल गया. आपको क्या मिला? इन नेताओं की प्लानिंग को समझें और उस सरकार का साथ दें जो सच में आपके लिए काम कर रही है 👍

 

Leave a Comment

Your email address will not be published.